INDIA के फुल फॉर्म

 

INDIA FULL FORM

नमस्कार दोस्तों स्वागत है हमारे नए आर्टिकल में आज हम इंडिया के बारे में बात करने वाले हैं, INDIA इंडिया एक एशियाई देश है ना की एक संक्षिप्त रूप (short form) है। इसलिए वास्तविक तौर पर इंडिया का कोई फुल फॉर्म नहीं होता है। 



फिर भी मौजूदा दौर में इंटरनेट पर बहुत सारी ऐसी आर्टिकल मिल जाएंगे जहां पर लोगों द्वारा निर्मित विभिन्न प्रकार की इंडिया की फुल फॉर्म आपको मिल जाएंगे जिनमें से कुछ फुल फॉर्म निम्नलिखित लिखा गया है और हम किसी भी फुलफॉम के 100% सही होने की बात नहीं करते हैं यह जानकारी सिर्फ इंटरनेट से ली गई है।

INDIA के फुल फॉर्म का पहला रूप :-

INDIA = Independent National Democratic Intelligent Area.

·        I -  Independent

·        N – National

·        D- Democratic

·        I – Intelligent

·        A – Area

यह फुल फॉर्म इंटरनेट पर आपको  अधिकांश श्रोता से जरूर मिलेगा ।

INDIA के फुल फॉर्म का दूसरा रूप:-

INDIA = independent nuclear development international association.

 

I = Independent

N = Nuclear

D = Development

I =  international

A =  Association.

 

India के फुल फॉर्म का तीसरा रूप

INDIA = independent nation of Democratic integration alliance.

I – independent

N—nation of

D – democratic

I – integration

A – alliance

INDIA  का नामकरण कैसे हुआ

INDIA  का नाम indus ( सिंधु) नामक शब्द  से लिया गया है जो कि एक नदी का नाम है। यूनानी द्वारा सिंधु नदी के दूसरी तरफ के देशों को इंडोई कहकर का पुकारा करते थे । जिसके सर फल स्वरूप इंडिया का नामकरण हुआ।

INDIA के अन्य नाम

इंडिया के इंडिया के अलावा चार और नाम भी है।

I-                 भारत

II-               हिन्दुस्तान

III-             आर्यावर्त

IV-             भारतवर्ष

INDIA की खोज किसने की थी?

भारत की खोज सर्वप्रथम 1497 में  vasco de gama द्वारा किया गया था। Vasco de gama अटलांटिक महासागर की मदद से भारत में कदम रखने वाला पहला यूरोपियन बन गया था।

 वे पहली बार माल बार्टटर पर कालीकट पहुंचा था। वास्कोडिगामा सफर नाव द्वारा पूरा  किए थे। वास्कोडिगामा ने 1497 से 1499 के बीच तीन बार कुल भारत की यात्रा किए थे।

INDIA का इतिहास

INDIA (भारत) का इतिहास हजारों वर्ष पुराना माना जाता रहा है। प्राचीन भारत विश्व गुरु के नाम से भी जाना जाता था। भारत ऋषि-मुनियों का देश माना जाता है। भारत में ही योग विद्या का आरंभ हुआ था । प्राचीन भारत में कई तरह के योद्धाओं तथा राजाओं ने जन्म लिया था। 

विश्व का प्रथम विश्वविद्यालय नालंदा विश्वविद्यालय भारत में ही स्थित था। भारत में ही महान अर्थशास्त्री चाणक्य ने जन्म लिया  अंग्रेजी शासन से पूर्व भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था।

 18 वीं सदी के बाद भारत यूरोपीय देशों का उपनिवेश बना रहा जिसने भारत को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ा। इस बीच लगभग 200 वर्षों तक भारत का विकास लगभग रुक सा गया तभी भारत के अनेक वीर सपूतों ने आजादी के लिए क्रांति की लहर छड़ी इसमें भगत सिंह जैसे वीरों को अंग्रेजों द्वारा फांसी दी गई अंततः 15 अगस्त 1947 को महात्मा गांधी के अनेक प्रयासों द्वारा भारत अंग्रेजी शासन से आजाद हुआ तब आधुनिक भारत की नींव रखी गई।

आधुनिक भारत

आधुनिक भारत की बात करें तो भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है जहां पर अनेक धर्मों के लोग रहते हैं।भारत की धर्म निक्षेपता ही भारत को अन्य देशों के मुकाबले महान बनाती है। भारत हमेशा से ही एक अच्छे देश के रूप में जाना जाता है। हाल ही में हुए करुणा संकट में भी भारत ने संयुक्त राष्ट्र अमेरिका सहित अन्य देशों को दवाई देकर भारत फिर से साबित कर दिया है। भारत जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा दूसरा देश है जहां पर 135 करोड़ के करीब लोग रहते हैं। वही क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत सातवें स्थान पर है।

 

Post a Comment

0 Comments